हमारा लक्ष्य

1. हमारी पार्टी अपने नाम के अनुसार अपना कार्य भी करेगी, हम देश के के प्रत्येक नागरिक की योग्यता व क्षमता का उपयोग राष्ट्र के निर्माण में करेंगे। सभी जाति, धर्म, समुदायों के बीच भाई चारा बनाकर सर्व समाज के स्वाभिमान व विकास के लिए कार्य करेंगे।

2. जिन परिवारवादी व गोत्रवादी लोगों ने समाजवाद का झूठा नारा देकर यादव समाज के एक बहुत बड़े वर्ग को पूरे प्रदेश के यादवों को अपमानित, उपेक्षित व पीड़ित करने का कार्य किया है तथा पूरे उत्तर प्रदेश के यादवों को बर्बाद करके सिर्फ और सिर्फ अपने सैफई परिवार को ही आबाद किया है, ऐसे लोगों के कारनामों को जनता के बीच उजागर करना है तथा ” हम क्या थे क्या हो गये और क्या होंगे” अभी इसकी भी समीक्षा करनी है।

3. सर्व समाज के मन में समस्त यादव समाज के प्रति हल्ला बोल यादवों के गलत आचरण के कारण जो गलत छवि बनी है उसे सर्व समाज के समक्ष पर्दाफाश करके एक बड़े वर्ग के यादव समाज के माथे से हल्ला बोल कलंक को मिटाना है तथा सर्व समाज के प्रत्येक जाति, धर्म, सम्प्रदाय के लोगों को अपने साथ जोड़ना है।

4. सामाजिक व्यवस्था के तहत हमारे समाज के जिन वर्गों को सदियों से संघर्ष करने के बावजूद आज तक इन्हें आर्थिक, सामाजिक व राजनीतिक न्याय नहीं मिला है उनको साथ लेकर सामाजिक न्याय के लिए संघर्ष करना है।

5. देश की आजादी के बाद से सबसे अधिक उपेक्षा समाज के पिछड़े वर्गों की हुई है, जिसके कल्याण व विकास के लिए आज तक कोई ईमानदार पहल नहीं की गयी, यहाँ तक कि आजादी के लगभग 50 वर्षों के बाद उसे केन्द्र द्वारा मात्र 27 : आरक्षण दिया जिसको कि विभिन्न सरकारों द्वारा आज तक ईमानदारी से लागू नहीं किया गया, देश के दर्जनों ऐसे प्रदेश हैं जिन्होंने पिछड़ा वर्ग का अभी तक 27: आरक्षण लागू नहीं किया है। हमें ऐसे पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित, अल्पसंख्यक व अन्य कमजोर वर्गों के सभी लोगों को न्याय दिलाने के लिए संघर्ष करना है।

6. देश के युवाओं की बेरोजगारी की विकराल समस्या है, प्रत्येक युवा के लिए उपयुक्त रोजगार की पहल करनी है तथा जब तक रोजगार नहीं मिलता है तब तक बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता सुनिश्चित करना है।

7. देश में भ्रष्टाचार एक संस्कार बन चुका है जो हमारे समाज तथा देश को दीमक की तरह खोखला करने में लगा है हमें इसे मूल से ही खत्म करना है।

8. देश में सभी धर्मो, सम्प्रदायों, मतों, पन्थों का आदर होना चाहिए जैसा कि संविधान में निहित है जो भी धार्मिक उन्माद क व बढ़ावा दें कानून के तहत उस व्यक्ति, व्यवस्था व संस्था के खिलाफ सख्त कार्यवाही होनी चाहिए ।

9. पूरे देश से उत्तर प्रदेश के किसानों की आर्थिक हालात बहुत ही दयनीय है, सभी उद्योगपति अपनी वस्तु का उत्पादन करन के बाद स्वयं ही वस्तु का मूल्य निर्धारण करते हैं किन्तु किसान अपनी फसल कितनी कठिनाई से पैदा करता है और किसान की फसल की कीमत वातानुकूलित कमरों में बैठने वाले बड़े बड़े साहूकार व अधिकारी तय करते हैं, जब बाजार में किसान की फसल आती है उसे अपनी फसल माटी मोल बेचनी पड़ती है। हम किसान की फसल को शत् प्रतिशत M.S.P दिलायेंगे । मुफ्त फसल सिंचाई, किसान बीमा व फसल का बीमा मुफ्त किया जायेगा, K.Y.C. के तहत किसान को तीन वर्षों के लिए बिना ब्याज पाँच लाख रूपये तक का ऋण उपलब्ध कराया जायेगा ।

10. सहकारी उपक्रमों को मजबूत करके तथा आउट सोर्सिंग से कान्ट्रेक्ट भर्तियों पर रोक लगाकर सामाजिक न्याय की व्यवस्था के अन्तर्गत भर्तियाँ की जायेंगी जिससे कि गरीब, मजदूर, किसान के बेटा-बेटियों को भी सरकारी नौकरियाँ मिल सके फौज में अग्निवीर भर्ती की वर्तमान योजना को निरस्त किया जायेगा ।

11. मुफ्तखोरी की व्यवस्था के स्थान पर गरीब, मजदूर व कमजोर वर्ग के लोगों को उनके अनुरूप रोजगार उपलब्ध कराक- उन्हें आर्थिक व सामाजिक रूप से मजबूत किया जायेगा जिससे कि वे भी मान सम्मान व स्वाभिमान की जिन्दगी जी सकें ।

12. देश में शिक्षा, चिकित्सा व सुरक्षा प्रत्येक नागरिक को समान रूप से उपलब्ध करायी जाये। शिक्षा, चिकित्सा व सुरक्षा क अधिकार की प्रत्येक गरीब से गरीब नागरिक को गारन्टी दी जानी चाहिए जो कि संविधान में निहित है।

13. देश में पिछड़े वर्ग का आरक्षण सीमित दायरे में अनिच्छा से अपूर्ण दिया जा रहा है, हम देश की लोकसभा व विधानसभाअ में भी पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षण दिलाने हेतु संघर्ष करेंगे, पिछड़े वर्ग में हर जाति वर्ग की समान रूप से भागीदारी भी सुनिश्चित करेंगे।

14. देश में अभिव्यक्ति की आजादी की सीमा निश्चित होनी चाहिए, लोग अपने निहित स्वार्थ में अनर्गल बयानबाजी से देश क भाईचारे के माहौल को दूषित करते हैं जिसका खामियाजा हमारा पूरा देश आपसी कटुता के रूप से उठाता है।

15. देश में सभी धर्मो, सम्प्रदायों, मतों, पन्थों का आदर होना चाहिए जैसा कि संविधान में निहित है जो भी धार्मिक उन्माद क व बढ़ावा दें कानून के तहत उस व्यक्ति, व्यवस्था व संस्था के खिलाफ सख्त कार्यवाही होनी चाहिए ।

16. वित्त विहीन विद्यालयों, शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को पर्याप्त मासिक मानदेय उपलब्ध कराया जायेगा तथा उन्न निःशुल्क चिकित्सा उपलब्ध करायी जाये ।

17. लाखों निर्दोष लोगों को दहेज उत्पीड़न, बलात्कार, छेड़खानी, राहजनी, डकैती आदि धाराओं में झूठे मुकदमों में फंसाक जेलों में बन्द कर रखा है। मेरी सरकार आने पर सभी मुकद्द्मों की निष्पक्ष जाँच करवाकर निर्दोषों को दोष मुक्त कराने क

और जाने

हम एक लचीली अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध एक समर्पित समूह हैं जो रोजगार सृजन को प्राथमिकता देती है, उचित वेतन सुनिश्चित करती है और सभी नागरिकों की भलाई के लिए एक मजबूत सामाजिक सुरक्षा जाल स्थापित करती है।

सहायता

मीडिया